शिक्षक व कर्मचारियों के लिए हेल्थ प्रोफाइट डेटा तैयार करेगा अवध विवि

स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर कुलपति ने की बैठक

फैजाबाद। डाॅ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय, के कौटिल्य प्रशासनिक भवन सभागार में विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केन्द्र में अधिकारियों, शिक्षकों, कर्मचारियों के स्वास्थ्य सुविधाओं के सम्बन्ध में कुलपति की अध्यक्षता में बजे बैठक आयोजित की गई।
बैठक में कुलपति आचार्य मनोज दीक्षित ने बताया कि वर्तमान परिवेश में बढ़ रही स्वास्थ्यगत चुनौतियों को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन सभी र्कायरत शिक्षक, कर्मचारियों का हेल्थ प्रोफाइट डेटा तैयार करने जा रहा है। इस क्रम में कुलपति ने सभी विभागाध्यक्ष को निर्देश दिया है कि सभी शिक्षक व कर्मचारियों को विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केन्द्र से जारी प्रोर्फामा को भर कर केन्द्र में जमा करना होगा ताकि सभी के स्वास्थ्य का एक डाटा बेस तैयार किया जा सके। विश्वविद्यालय की इस महत्वपूर्ण योजना के तहत आपातकालीन परिस्थिति में तत्काल आवश्यक उपचार दिया जा सके। स्वास्थ्य केन्द्र द्वारा डाटा जारी कार्ड में नाम, पता, आपात कालीन स्थिति में प्रयोग किये जाने वाला मोबाइल नं0 के साथ-साथ कार्ड होल्डर को अपने बारे में उन बीमारियों एवं उसके उपचार हेतु ली जा रही दवाओं का भी जिक्र करना होगा जिसका वह सेवन कर रहा है। कुलपति आचार्य मनोज दीक्षित ने बताया कि बीमारियों की कोई बाउन्ड्री लाइन नहीं होती। आस-पास के परिवेश व क्षेत्र में क्या घटित हो रहा है उस पर ध्यान देना आवश्यक होता है। क्योंकि वातावरण का प्रभाव आस-पास रह रहे सभी लोगों पर पड़ता है। स्वस्थ रहने के लिए तैयार जागरूक होने के साथ-साथ सावधान रहने की आवश्यकता है। समय-समय पर स्वास्थ्य की जांच आवश्यक है। कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय स्वास्थ्य सुविधाओं को दृष्टिगत रखते हुए शीघ्र ही नाड़ी रसायन, योगाथिरेपी, नेचुरलथिरेपी की भी ओ0पी0 डी0 शुरू करने जा रहा है। जल्द विश्वविद्यालय में बेहतर स्वास्थ्य के लिए रोग विशेशज्ञ एवं नेचरोपैथी के विशेषज्ञ उपलब्ध होंगे। उन्होंनें निर्देश दिये कि सभी नव प्रवेशित छात्र-छात्राओं को शीघ्र ही रक्षक एप से जोड़ा जाय। ताकि समय-समय पर उनसे आवश्यक सूचनाओं साझा की जा सके। स्वास्थ्य केन्द्र की चिकित्साधिकारी डाॅ0 दीपशिखा ने बताया कि कार्डधारक को व्यक्तिगत बीमारियों एवं उसके उपचार हेतु चल रहे इलाज की दवाओं के जिक्र के साथ-साथ पता एवं आपातकालीन स्थिति में प्रयुक्त हो सकने वाले मोबाइल नं0 को दर्ज कराना आवश्यक होगा। ताकि शीघ्राअतीशीघ्र आवश्यकता पड़ने पर उसे सहायता पहुंचाई जा सके। प्रत्येक कर्मी की जेब में रखा उसका मेडिकल प्रोफाइल उसकी मदद कर सकता है। बैठक में कुलसचिव प्रो0 एस0एन0 शुक्ल, मुख्य नियंता प्रो0 आर0 एन0 राय, अधिश्ठाता छात्र कल्याण प्रो0 आशुतोष सिन्हा, विज्ञान संकायाध्यक्ष प्रो0 आर0 के0 तिवारी, कला संकायध्यक्ष प्रो0 एन0 के0 तिवारी, प्रो0 के0 के0 वर्मा, प्रो0 अजय प्रताप सिंह, प्रो0 राजीव गौड़, प्रो0 रमापति मिश्र, प्रो0 सिöार्थ शुक्ला, डाॅ0 फारूख जमाल, उप कुलसचिव उमानाथ एवं विनय सिंह भी उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  एसएसपी का व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर जेल अधीक्षक को धमकाया

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More