अग्नि पीड़ितों के जख्म पर मरहम लगाने पहुंचे समाजसेवी

अग्नि पीड़ितों को सहायता देते समाजसेवी के पुत्र  अंकित पाण्डेय
Advertisement

 

 

मवई क्षेत्र के पासिनपुरवा गांव में सोमवार को हुए भीषण अग्निकांड में ग्यारह घर हुए थे तबाह

मवई-फैजाबाद। मवई क्षेत्र अन्तर्गत पासिनपुरवा मजरे तालगांव में लगी आग से ग्यारह परिवारों की गृहस्थी जलकर राख हो गयी।जिसकी खबर मिलते ही जिले के समाजसेवी राजन पांडेय ने अपने पुत्र अंकित पाण्डेय को अग्निपीड़ितों को कपड़े विस्तार के साथ ५०० रुपये की तत्कालिक मदद कराई।समाजसेवी राजन पांडेय ने कहा कि आग लगने से जहां लोगों के आशियाने व गृहस्थी राख हो जाती है।वही ऐसी घटनाओं से लोगों के कई अरमान भी खाक हो जाते है।ऐसे अग्निपीड़ितों की मदद करना ही उनका परम उद्देश्य है जिसे वे सदैव करते आये हैं और आगे भी इसी तरह मदद करते रहेंगे।इन्होंने अन्य समर्थवान व्यक्तियों से भी अनुरोध किया कि जो भी लोग अग्निकांड जैसी घटना के शिकार हो।आस पास के लोगों को भी अपनी सामथ्र्य के अनुसार इनकी मदद के लिये आगे आना चाहिये।पासिनपुरवा गांव के सभी अग्निपीड़ितों ने राजन पांडेय की समाजसेवी टीम की प्रशंसा करते हुये उनको आशीर्वाद दिया।

बताते चले कि मवई थाना क्षेत्र के पासिन पुरवा मजरे तालगांव में सोमवार दोपहर करीब १२ बजे अचानक अमर बहादुर उर्फ बबबू के घर से उठी चिंगारी से उनके घर की सारी गृहस्थी के अलावा मोटरसाइकिल और एक बछिया जलाकर राख कर दिया।ग्रामीणों ने बताया कि गैस सिलेंडर फटने की वजह से ही आग की तीव्रता बढ़ गई।आग की उठी चिंगारी ने बगल में स्थित नक्कू पुत्र राम बरन के घर को चपेट में ले लिया जिससे उनके घर मे चल रही परचून की दुकान का सामान और नगदी के अलावा अनाज जल कर खाक हो गया ।उसके बाद देखते ही देखते परशुराम पुत्र केशवराम और जगराम पुत्र केशवराम  के घर को आगोस में लेकर राख बना दिया।ग्रामीणो ने बताया कि लोग एक तरफ आग बुझाने में जुटे तभी दूसरी तरफ संजीत पुत्र शेर बहादुर के घर को चपेट में ले लिया जिससे उनके घर का सामान व जेवरात जल गया।उनके बगल स्थित त्रिलोकी पुत्र राम लाल का छप्पर और घर मे रखा अनाज के अलावा नगदी जल गई ।त्रिलोकी ने बताया कि घटना के समय वे लोग खेत गए हुए थे।उनके बगल स्थित धर्मराज पुत्र माता प्रसाद और शिव प्रसाद पुत्र भगवती के घर को आग ने अपनी चपेट में ले लिया ।दोनों घरों में रखी लाखों रुपये की गृहस्थी अग्निकाण्ड की भेंट चढ़ गयी।धर्मराज के घर में दस हजार रुपये रखे थे वह भी जल गये।वही राम बरन पुत्र मोहन का छप्परनुमा घर जल गया।इस मौके पर अनूप कुमार मिश्रा गुरुजी, दिनेश वर्मा, राघवेंद्र मिश्रा, अरुण सिंह, भारती भाई, रवि शर्मा, तिलकराम, सतीश शर्मा, आशीष गुप्ता, बाबा अमरनाथ, बृजेश गुप्ता,मास्टर उजेर अहमद अमित सिंह सहित गाँव के अन्य लोग भी मौजूद रहे।