हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर के रूप में आठ संस्थान होंगे विकसित

घातक बीमारियों की वजहों को भी बातएंगे डॉक्टर

रूदौली। विकास खण्ड रूदौली के 8 स्वास्थ्य संस्थानों को हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर के तौर पर विकसित किया जाएगा। इन केंद्रों पर न केवल इलाज की सुविधा होगी बल्कि स्वस्थ रहने के तरीके भी बताए जाएंगे। केंद्रों पर गंभीर व घातक बीमारियों से दूर रहने के लिए उपाय भी सुझाए जाएंगे। इन घातक बीमारियों के उपज की किन वजहों से होने की संभावना बनी रहती है, इस बात की भी क्षेत्र में जागरूकता लाई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के दावे के अनुसार दो अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के तौर पर विकसित भी कराया जाएगा।जिसमे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शुजागंज व एहार शामिल है। बताया जा रहा है कि पूर्व में भी इन केंद्रों से चिकित्यकीय कार्य किए जा रहे थे। इन्हें अब अपग्रेड किया जा रहा इन केंद्रों पर पूर्व में आयुष चिकित्सकां की तैनाती हुई थी। अब एमबीबीएस चिकित्सक भी तैनात होंगे। इन केंद्रों से चिकित्सकीय उपचार के अलावे स्वास्थ रहने के उपाय बताए जाएंगे। इन केंद्रों पर स्वस्थ रहने के पारंपरिक तरीके योगा, मानसिक स्वास्थ्य सहित कई अन्य जानकारियां भी दी जाएंगी।

इन केंद्रों को भी किया जा रहा अपग्रेड

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के तौर पर स्वास्थ्य उपकेंद्र रहीम गंज, सरैठा , अख्तियारपुर ,गौरिया मऊ ,फिरोजपुर मखदुमि,हलीमंगर,मांगी चांदपुर को शामिल किया गया है।

स्वस्थ रहने के उपाय बताए जाएंगे

लक्ष्य तय कर विकसित किए जा रहे इन हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों पर इस तरह की व्यवस्था होगी कि अगर केंद्र में रोगी आए तो इलाज मिले। डॉक्टरों ने बताया कि लेकिन निरोगी भी आए तो उसे स्वस्थ रहने के उपाय बताए जाएंगे।

इसे भी पढ़े  संविदा डाक्टरों के हवाले जिला अस्पताल की इमरजेंसी

सुखद अनुभूति के लिए दीवारों पर चित्रकारी

स्वास्थ्य विभाग की आधिकारिक जानकारी के अनुसार हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में आने वाले मरीजों को अस्पताल के माहौल से मानसिक तौर पर सुकुन मिले इसलिए दीवारों पर चित्रकारी होगी। ताकि इससे सुखद अनुभूति हो। इन केंद्रों से स्वच्छता के साथ संक्रमण से दूर रहने व इससे बचाव के उपाय भी सुझाए जाएंगे। हालांकि इन केंद्रों से चल रहे पूर्व में इलाज की सुविधा भी बरकरार रहेगी।

शीघ्र पूरे होंगे हेल्थ एंड वेलनेस केंद्र

नव पदस्थापित डीपीएम धनंजय शर्मा ने इस सबंध में कहा कि वे अभी योगदान नहीं किए है। बावजूद इसके निर्धारित लक्ष्य के अनुसार केंद्रों को समय सीमा के भीतर शुरू करा लिया जाएगा। इसके लिए सारी तैयारयां कर ली गई हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More