सोशल मीडिया ने काफी कुछ बदल दिया :अनुज कुमार झा

पत्रकारिता में उत्कृष्ट योगदान के लिए विमलेश तिवारी को किया गया सम्मानित

अयोध्या। प्रेस क्लब में पत्रकारिता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि दुनिया की हर भाषा के पास अपनी डिक्शनरी, लिपि तथा बोली है। हिन्दी एक ऐसी भाषा है जिसके खजाने में अनेक डिक्शनरी है। अवधी, मैथिली, भोजपुरी, बृज जैसी अनेक भाषा इसमें सम्मलित है। पांच साल पहले अवधी भाषा फिल्म हिट होने के आसार कम रहते थे। आज कई बेबसीरीज हिट हो रही है। सोशल मीडिया ने काफी कुछ बदल दिया। 
उन्होने कहा कि उदाहरण के तौर पर वोटिंग परसेंटेज की जानकारी पत्रकारों को एक बार अंत में होती थी। पर अब हर पल की जानकारी पत्रकारों को चाहिए। गूगल आपकी रुचि के मुताबिक फीडबैंक देता है। गूगल से जुड़ी कोई भी बेबसाईट अगर वोटिंग करेंट वोटिंग परसेंटेज दिखा रही है तो आप अपने मोबाईल से उसे देख सकते है। बेबसाईट का हिट्ज बढ़ने पर उसकी भी कमाई होगी। 
उन्होने कहा कि जनसरोकार से जुड़ी खबरें अपना प्रभाव डालती है। सभी बड़ी शख्सियते हिन्दी पत्रकारिता से जुड़ी रही है। वर्तमान में जिन मीडिया हाउस ने कार्पोरेट के तर्ज पर अपने प्रतिष्ठान बनाये तो उनकी हालत अच्छी हो गयी। अन्य को उनकी मेहनत का अपेक्षित लाभ नहीं मिला। नगर आयुक्त डा नीरज शुक्ला ने कहा कि पत्रकारों विश्वसनीयता व क्वालिटी एक चुनौती है। संगठन की तरफ से नये पत्रकारों हेतु एक कार्यशाला का आयोजन किया जाना चाहिए। साल में एक बार मेडिकल कैम्प तथा पुस्तकालय भी होना चाहिए। डिप्टी डायरेक्टर सूचना अतुल मिश्रा ने कहा कि हिन्दी पत्रकारिता आज शीर्ष स्तर पर पहुंच गयी है। हिन्दी न्यूज चैलनों के बदलने की होड़ लगी रहती है। एसपी चौबे ने कहा कि 90 के दशक के बाद पत्रकारिता में पूजीपति समूहों का वर्चस्व हो गया है। वीएन दास ने कहा कि आजादी के बाद हिन्दी पत्रिकाओं ने अपनी आक्रमकता से एक वर्जन दिया। तथ्यों को लेकर पत्रकारिता का स्तर गिर रहा है। सुरेश पाठक ने कहा कि चैलनों पर दिन भर एक ही खबर चलती रहती है। इसमें आम आदमी जुड़े हुए मुद्दे कहां गये। स्वागत भाषण प्रेस क्लब अध्यक्ष हरिकृष्ण अरोड़ा ने किया। समापन प्रेस क्लब सचिव त्रियुग नारायन तिवारी ने तथा कार्यक्रम का संचालन विवेकानंद पाण्डेय ने किया। कार्यक्रम को सूर्यकांत पाण्डेय ने भी सम्बोधित किया। 
कार्यक्रम में पत्रकारिता में उत्कृष्ट योगदान के लिए राष्ट्रीय सहारा के व्यूरो विमलेश तिवारी को पूर्व सांसद आरके सिन्हा के पुत्र राशि कृष्ण सिन्हा, जिलाधिकारी व नगर आयुक्त ने संयुक्त रुप से सम्मानित किया। इस अवसर पर एसएन सिंह, उग्रसेन मिश्रा, रामकुमार सिंह, जय प्रकाश सिंह, जोखू प्रसाद तिवारी, केके मिश्रा, सुशील पाण्डेय, पवन मिश्रा, सहित बड़ी संख्या में पत्रकारों की मौजूदगी रही।

इसे भी पढ़े  बिना मास्क के बाहर घूमने वाले 690 पर की गई कार्यवाही

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More