यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के कर्मचारियों से उपभोक्ता परेशान

गोसाईगंज। स्थानीय यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के बैंक प्रशासन की मनमानी के चलते उपभोक्ताओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों का कहना है पेंशन से लेकर छोटे-मोटे लेन देन के लिए कई-कई दिनों तक बैंक के चक्कर काटने पड़ते हैं, कई बार तो बैंक प्रशासन की मनमानी के कारण बिना काम हुए भी खाली हाथ बैरंग लौटना पड़ता है। बृहस्पतिवार बैंक प्रशासन की मनमानी पूरे चरम पर दिखी। जून माह के भीषण गर्मी में बैंक कर्मचारी लंच के दौरान बैंक को बंद कर दिया बाहर खड़े खाताधारक इस भीषण गर्मी से परेशान हो गए। बैंक के पास बाहर बैठने का कोई व्यवस्था नहीं है। ना पानी पीने का कोई वाटर कूलर भी नहीं लगा है। कितने खाताधारक लोग बैंक की कारनामे से काफी नाराज दिखे लेकिन अड़ियल बैंक मैनेजर व कर्मचारियों के आगे कुछ नहीं चलता रकम को निकालने आए बुर्जग व महिलाएं भारी संख्या में तपती धूप में बैंक के बाहर खड़ी रही, जबकि बैंक के मैनेजर से लेकर कर्मचारी बैंक में व बाहर लगे एटीएम में ताला लगाकर अंदर आराम से बैठे थे। जिसको लेकर लोग काफी परेशान रहे। लोगों का कहना है कि यह नजारा केवल बृहस्पतिवार का ही नहीं बल्कि रोजाना का है। उनका आरोप है कि बैंक अधिकारियों ने बाहर दलाल रखे हुए हैं जो अतिरिक्त शुल्क लेकर कुछ ही मिनटों में काम करा देते हैं। लोगों ने बैंक के रिजनल मैनेजर व उपायुक्त से कर्मचारियों की मनमानी पर रोक लगाने की मांग की है।
सूत्रों के मुताबिक गोसाईगंज यूनियन बैंक के कर्मचारियों का व्यवहार बुजुर्गो के लिए अपमान जनक है। बैंक में कर्मचारी अपनी जान-पहचान वालों को काम तो कर देते हैं, लेकिन घंटों लाइन में खड़े रहने के बाद भी बुजुर्गो को पेंशन नहीं दी जाती है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More