पुरानी रंजिश में छप्पर जलाने का आरोप

मिल्कीपुर। इनायतनगर थाने के हैरिंग्टनगंज पुलिस चैकी क्षेत्र के ग्राम नियामतपुर में पुरानी रंजिश के चलते एक गरीब के घर के सामने स्थित छप्पर जला दिया गया।पीड़ित ने अपने पट्टीदार पर पर आगजनी करने का आरोप लगाते हुए इनायतनगर थाने में तहरीर दी है।हालांकि तहरीर मिलने के बाद एफआईआर दर्ज करना तो दूर पुलिस मौके तक जाना भी उचित नहीं समझा।इस बारे में हैरिंग्टनगंज चैकी प्रभारी राजेश यादव ने बताया कि पुरानी रंजिश में एक दूसरे को हंसाने के लिए कुचक्र रचा गया है।
बताया गया कि शुक्रवार की सुबह लगभग 6 बजे हैरिंग्टनगंज पुलिस चैकी के ग्राम नियामतपुर में ग्रामवासी राधेश्याम तिवारी के घर के सामने बना बैठका का छप्पर जलने लगा। भुक्तभोगी ने बताया कि छप्पर जलता देख जब वह बुझाने के लिए दौड़ा तो बगल रहने वाले अखिलेश कुमार, व अरुण कुमार पुत्रगण रामशंकर उसके साथ गाली-गलौज करने लगे और कहा कि घबराओ नहीं तुम्हें सुकून से जीने नहीं दूँगा। ग्रामीणों ने काफी मशक्कत करके छप्पर में लगी आग को बुझाया।तब तक छप्पर में रखा भुक्तभोगी का बिस्तर,चारपाई, तख्त, थ्रेशर,चारा काटने वाली मशीन और विद्युत चालित मोटर सहित सब कुछ जलकर राख हो चुका था।
भुक्तभोगी ने इस बात की सूचना डायल 100 पर दी और घटना की तहरीर स्थानीय पुलिस चैकी हैरिंग्टनगंज व इनायतनगर थाने पर दी। भुक्तभोगी राधेश्याम ने बताया कि इनायतनगर थाने पर कोतवाल सुरेश पांडे पीड़ित ने दिनभर बैठाए रखा और शाम को कहा कि चैकी इंचार्ज से बात हो गई है। जाकर मिल लो।जब वह पुलिस चैकी हैरिंग्टनगंज पर पहुंचा तो चैकी इंचार्ज राजेश यादव ने कहा कि तुम अपने घर जाओ। मामले को देखते हैं।अब भुक्तभोगी रोते बिलखते हर मिलने वाले से पुलिस के व्यवहार की चर्चा करता घूम रहा है। हालांकि इस बारे में हैरिंग्टनगंज चैकी प्रभारी राजेश यादव का कहना है कि मामला पट्टीदारी में पुरानी रंजिश से जुड़ा है।अब सवाल उठता है कि अगर पीड़ित ने स्वयं ऐसा किया है, तो पुलिस उसके खिलाफ कार्यवाही क्यों नहीं कर रही है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More