पुलिस की पिटाई से युवक की मौत

    आक्रोशित ग्रामीणों को भगाती पुलिस
    Advertisement

     

      चोरी के आरोप में ले गयी थी डायल 100 पुलिस

    मिल्कीपुर-फैजाबाद। खंडासा थाना क्षेत्र के जगदीशपुर गांव से चोरी के इल्जाम में थाने लाया गया ४५ वर्षीय युवक पुलिस की मार से मरणासन्न हो गया। थाने में युवक की हालत बिगड़ता देख पुलिस के हाथ पांव फूल गए और पुलिस ने आनन-फानन में युवक के परिजनों को बुलाकर पुलिस हिरासत में लिए गए युवक को उनके सुपुर्द कर दिया। युवक को इलाज के लिए ले जाते समय थाने से महज चंद कदम दूरी पर मौत हो गई। घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में युवक के शव को अपने सरकारी वाहन से इलाज कराने का बहाना बता कर जिला अस्पताल भेजा और जनाक्रोश से बचने के लिए पुलिस के अधिकारियों ने आनन-फानन में जगदीशपुर गांव के तीन लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा कायम कर थाने के पुलिस कर्मियों को बचा लिया।

    पुलिस चौकी कंदई कला का घेराव कर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

    घटना समूचे क्षेत्र में जंगल में लगी आग की तरह फैल गई और सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने  पुलिस चौकी कंदई कला का घेराव कर लिया। नाराज ग्रामीणों के तेवर देख पुलिस के प्रशासनिक अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए और उन्होंने आनन-फानन में जिले के आधा दर्जन थानों की पुलिस फोर्स एवं पीएसी मौके पर बुला लिया। उसने डंडा फटकार कर पुलिस की करतूतों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों को चौकी से खदेड़ दिया।

    खंडासा थाना क्षेत्र के मानूडीह निवासी युनूस पुत्र खुदाबख्श ४५ बर्ष थाना क्षेत्र के ही जगदीशपुर निवासी विश्वनाथ चौधरी पुत्र रामप्रकाश के यहां मजदूरी करता था। विश्वनाथ ने बताया कि १० मार्च की सुबह से ही घर से गायब हो गया था। दूसरे दिन सुबह ११ मार्च को लगभग ७ बजे बगल के रहने वाले डीली सरैया निवासी दुर्गा प्रसाद पुत्र शिव वरदान ने बताया कि यूनुस हमारे यहां चोरी का प्रयास कर रहा था मैंने रंगे हाथ पकड़ कर १०० नंबर पुलिस टीम बुलाकर थाने भिजवा दिया था तुरंत थाने जाओ और उसे वापस ले आओ। विश्वनाथ का कहना है कि वह जानकारी पाकर रविवार को करीब १० बजे थाने पहुंचा था। थाने में उसकी हालत बहुत ही खराब थी। पुलिस कर्मियों ने उसे ले जाकर इलाज कराने की सलाह दी। विश्वनाथ थाने से यूनुस को अपने साथ लेकर इलाज के लिए निकला था और वह राम नगर चौराहे पर पहुंचा ही था कि चौराहे पर ही उसकी मौत हो गई।

    इसे भी पढ़े  जानलेवा हमले में वांछित तीन गिरफ्तार

    अपने को बचाने के लिए तीन लोगों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया गैर इरादतनहत्या का मुकदमा

    थाने लाये गये युवक की मौत की जानकारी मिलते ही खंडासा थानाध्यक्ष वीर सिंह मैं फोर्स के मौके पर पहुंच गए और आनन फानन में युवक का शव इलाज कराने के बहाने से पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। घटना से घबराए पसीने से तरबतर थानाध्यक्ष वीर सिंह ने विश्वनाथ की तहरीर पर बिना कोई हीला-हवाली व जांच पड़ताल किए तपशी दुबे के पुरवा निवासी सुनील कुमारख् दुर्गा प्रसाद एवं रिंकू सहित तीन लोगों के खिलाफ गैर इरादतनहत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। उधर पुलिस की कारगुजारी से युवक की मौत की सूचना समूचे क्षेत्र में फैलते ही लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंचा और पूर्व प्रधान अंसार अहमद एवं संगम के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने खंडासा थाने की कदई कला पुलिस चौकी को घेर लिया तथा पुलिस के खिलाफ हत्या का मुकदमा लिखे जाने की मांग करने लगे। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस  अधीक्षक ग्रामीण संजय कुमार, एसडीएम अरुण कुमार मिश्रा रुदौली,रौनाही, कुमारगंज, इनायत नगर, बीकापुर थानों की पुलिस फोर्स एवं एक ट्रक पीएसी पुलिस बल के साथ कदई कला चौकी पहुंच गए। पुलिस फोर्स ने डंडा फटकार कर प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों को मौके से खदेड़ दिया। हालांकि खंडासा थाने की पुलिस ने युवक की मौत प्रकरण में अपने को निर्दाेष साबित करने के लिए हिरासत में लिए गए युवक की मौत के मामले में गैर इरादतन हत्या का मुकदमा कायम करने के पूर्व युवक के खिलाफ चोरी का मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। फिलहाल समूचे घटनाक्रम से पर्दा उच्च स्तरीय जांच के बाद ही उठ सकेगा। हालांकि समूचे क्षेत्र में पुलिस के खिलाफ ग्रामीणों में गहरा आक्रोश व रोष व्याप्त है तथा पुलिसिया कार्यशैली पर पूरी तरह से उंगली उठाई जा रही है।