नेक्स्ट खबर का असर: ‘‘मन कक्ष’’ को मिला भवन

  •  सांसद लल्लू सिंह 21 सितम्बर को करेंगे उद्घाटन

  •  साढ़े सात माह से स्थापना की बाट जो रहा था ‘मन कक्ष’

फैजाबाद। राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत बहुप्रतीक्षित मन कक्ष के लिए भवन मिल जाने के बाद काउंसलिंग सेंटर की स्थापना का मार्ग प्रशस्त हो गया है। जिला चिकित्सालय के मौजूदा सीएमएस डा. अशोक कुमार राय ने महिला चिकित्सालय स्थित आयुष केन्द्र की ऊपरी मंजिल को मन कक्ष के लिए आवंटित कर दिया है। मन कक्ष का फीता काटकर 21 सितम्बर को प्रातः 10.30 बजे भाजपा सांसद लल्लू सिंह उद्घाटन करेंगे।
बताते चलें कि राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम की महत्वाकांक्षी योजना के तहत जिला चिकित्सालय में साढ़े सात माह से स्थापना की बाट जोह रहे मन कक्ष को अन्तः हरि छनडी मिल गई है। उक्त सम्बन्ध में नेक्स खबर ने मंगलवार को ‘‘प्रसव वेदना से नहीं उबर रहा मन कक्ष’’ को प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसका असर चिकित्सालय प्रशासन पर हुआ और आफरा तफरी में उसी दिन 21 सितम्बर को मन कक्ष के उद्धघाटन का फैसला जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अशोक कुमार राय ने ले लिया और सांसद लल्लू सिंह से उद्धघाटन की सहमत भी ले ली। आधी-अधूरी तैयारी के मध्य मन कक्ष का उद्धघाटन होगा। सूत्रों की माने तो मन कक्ष के लिये एक कमरा व बराम्दा, दो मेंज, कुछ कुर्सियां, एक मोबाइल फोन की ही व्यवस्था सीएमएस द्वारा की गई है जबकि 3 लाख रुपया खाता में साढ़े सात माह पहले ही आ चुका है। शासनादेश के अनुसार दो टेलीफोन लाइनें, कुर्सी मेंज आदि की व्यवस्था किया जाना था । रोगियों व आगन्तुकों के बैठने की कोई व्यवस्था नहीं कि गई है दूसरी ओर महीने में एक दिन जनपद भर के सभी साइकोलॉजिस्ट व काउंसलर एक साथ बैठेंगे जिनके लिए मेंज कुर्सी की अतिरिक्त व्यवस्था नहीं कि गई है। वैसे सीएमएस डॉ. रॉय का कहना है कि उन्हें यहा आये अभी तीन माह ही हुआ है इस लिए अल्प साधन में ही मन कक्ष का उद्धघाटन करा दिया जा रहा है। शेष व्यवस्थाए बाद में करा दी जायेगी पूर्ववर्ती प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक यदि लापरवाह न होते तो मनकक्ष सेवा फरवरी माह में ही शुरु हो जाती।

इसे भी पढ़े  अयोध्या का विकास सपा सरकार की देन : तेजनारायण

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More