धूल फांक रहा उपकेंद्र पर पड़ा लाखों का ट्रिपिंग सिस्टम

    Advertisement

    सोहावल-फैजाबाद। सोहावल विद्युत उपकेंद्र पर महीनों से पड़ा लाखों रुपये की कीमत वाला ट्रिपिंग सिस्टम मशीन(ओ बी सी) उपकेंद्र में स्थापित नहीं हो पाया।केन्द्र की आपूर्ति व्यवस्था पूरी तरह राम भरोसे है।सिस्टम फेल होने का खामियाजा विभाग के साथ विद्युत उपभोक्ता भुकत रहे है।
    रविवार को दोपहर उपकेन्द्र के बगल रौनाही फीडर से लाइन शार्ट हुई।शार्ट शर्किट से आग लगी।अग्नि शमन दस्ते ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह उपकेंद्र को जलने से बचा लिया।शार्ट शर्किट के पीछे ट्रिपिंग सिस्टम का फेल होना बताया गया।करीब 6 महीने पहले फेल हुए लाखों रुपये के इस सिस्टम को बदलने के लिए आई नई मशीन उपकेंद्र पर महीनों से धूल फांक रही है।केन्द्र पर डयूटी करने वाले कर्मचारी जान जोखिम में डालकर आपूर्ति व्यवस्था को संभालते हैं।इनकी माने तो पूरा सिस्टम डायरेक्ट प्रणाली पर चल रहा है।फाल्ट होने या शार्ट शर्किट होने पर भी लाइन ट्रिप नहीं होती।तार टूट कर ही गिरते हैं।उपकेन्द्र सोहावल, मगलसी, रौनाही, आर एल, सुचित्तागंज, रेलवे फीडरों सहित बीकापुर, रुदौली,गोड़वा विद्युत उपकेंद्रों से जुड़ा है।इन्हें देखने वाले उप मण्डलीय अभियंता एस पी सिंह ने पूंछे जाने पर बताया कि विभागीय संसाधनों और व्यस्तता के चलते नया सिस्टम अभी चालू नहीं हो पाई है।व्यवस्था सुधारने का प्रयास किया जा रहा है।

    इसे भी पढ़े  बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन