भाजपा सरकारों से आवाम का हुआ मोहभंग: अशोक

समान विचारधारा के दल 2019 के लिए तय करें साझी रणनीति

Advertisement

फैजाबाद। मौजूदा समय में भाजपा सरकारों की नीतियों और क्रिया कलापों के कारण मुल्क के सियासी सामाजिक और आर्थिक दशा भयाहवा हो गयी है। केन्द्र में चार साल से सत्तारूढ़ भाजपा सरकार से आवाम का मोह भंग हो चुका है जिसका परिणाम भविष्य में होने वाले चुनावों में दिखाई पड़ेगा। ऐसी दशा में समाजवादी जनता पार्टी ने समान विचारधारा के राजनैतिक दलों से अपील किया है कि 2019 लोकसभा चुनाव के लिए वह साझी रणनीति बनायें जिससे भाजपा का सूफड़ा साफ किया जा सके।
यह विचार सजपा की राजधानी में हुई राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में भाग लेने के बाद फैजाबाद लौटे प्रदेश अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव ने व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय समिति की बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष कमल मोरारका ने किया। बैठक मे विभिन्न प्रस्ताव पारित किये गये। उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के शासनकाल में गावं, गरीब, किसान और युवाओं के साथ ही आम जनता में बेचैनी बढ़ी है यही वजह है कि जनता सत्तारूढ़ दल के विरूद्ध विरोध प्रदर्शन कर रही है परन्तु सरकार समस्या समाधान करने के बजाय दमन पर उतारू है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग सर्वोच्च न्यायालय, रिजर्व बैंक जैसी संवैधानिक संस्थाओं पर गम्भीर आरोप लग रहे हैं न्याय पालिका के चार न्यायाधीशों द्वारा प्रचार माध्यमों के सामने रूबरू होना लोकतंत्र को खतरे का संदेश दे रहा है। यही नहीं सत्तारूढ़ दल राज्यपालों का भी दुरूपयोग कर सरकार बनाने का कार्य कर रही है।
उन्होंने कहा कि देश के मुखिया प्रधानमंत्री अपनी झूंठी बोली और फरेबी टोली के द्वारा जनता को गुमराह करके अधिक दिनों तक सत्ता मे बनी नहीं रह सकती। देश की दशा बता रही है कि न तो कहीं विकास हुआ है और न ही विकास कहीं दिख रहा है। क्योंकि विकास बोलता नहीं दिखता है। लोकतंत्र के चैथे स्तम्भ भी सत्ता के दबाव में है।
उन्होंने बताया कि केन्द्रीय कार्यसमिति की बैठक में यह तय किया गया कि सम विचारधारा के दलों को एकजुट किया जाय जिससे विधान सभा व लोकसभा चुनाव में विरोधी मतों के बिखराव को रोंका जा सके इसके लिए जरूरत है कि भाजपा प्रत्याशियों के विरूद्ध एक के सामने एक उम्मीदवार चुनाव में उतारा जाय।