आर्मी इंटेलिजेंस की मदद से फर्जी सिक्योरिटी गार्ड गिरफ्तार

    Advertisement

     

    ♦ एचपीसीएल में काम कर रहे थे फर्जी पूर्व सैनिक

    ♦ फर्जी डिस्चार्ज बुक बनाकर हांसिल की थी गार्ड की  नौकरी

    एफआईआर में कहा गया था कि दो लोग रिटायर फौज कर्मी के फर्जी दस्तावेज से गार्ड की नौकरी करते हैं। इसकी सूचना मिलेट्री इंटेलीजेंस द्वारा की गयी कि कुछ लोग आर्मी का फर्जी आईकार्ड व दस्तावेज बनाकर सिक्योरिटी गार्ड की  नौकरी कर रहे हैं वह लोग शहीद पथ पर मौजूद हैं।

    फैजाबाद। आर्मी इंटेलिजेंस की मदद से सरोजनी नगर लखनऊ थाना पुलिस ने सेना से सेवानिवृत्त होने का फर्जी दस्तावेज बनाकर  गार्ड की नौकरी कर रहे फर्जी दो सिक्योरिटी गार्ड को शहीद पथ से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार किये गये दोनों अभियुक्त अशोक कुमार तिवारी पुत्र कालिका प्रसाद तिवारी निवासी ग्राम मलके थाना सरेनी जनपद रायबरेली व राजेश कुमार सिंह पुत्र स्व. राम स्वरूप सिंह ग्राम नदौरी थाना अवसान जनपद उन्नाव हैं।

    सेवानिवृत्त कर्नल शिव नारायन तिवारी ने थाना सरोजनीनगर में प्रकरण को लेकर मु.अ.स. 258/18 धारा 420, 467, 468, 471 भादवि के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया था। एफआईआर में कहा गया था कि दो लोग रिटायर फौज कर्मी के फर्जी दस्तावेज से गार्ड की नौकरी करते हैं। इसकी सूचना मिलेट्री इंटेलीजेंस द्वारा की गयी कि कुछ लोग आर्मी का फर्जी आईकार्ड व दस्तावेज बनाकर सिक्योरिटी गार्ड की  नौकरी कर रहे हैं वह लोग शहीद पथ पर मौजूद हैं। इस सूचना पर आर्मी इंटेलिजेंस की मदद से अभियुक्तों की ट्रैकिंग कर एसएसपी लखनऊ व क्षेत्राधिकारी के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक थाना सरोजनी नगर धर्मेश कुमार शाही के नेतृत्व में पुलिस टीम तैयार कर शहीद पथ पर अभियुक्त अशोक कुमार तिवारी व राजेश कुमार तिवारी को गिरफ्तार किया गया। यह जानकारी फैजाबाद स्थित आर्मी इंटेलिजेंस मुख्यालय ने दी है।