ध्वस्त कानून व्यवस्था को लेकर जनौस ने सौंपा ज्ञापन

मनोज शुक्ला हत्याकाण्ड की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग

अयोध्या। भारत की जनवादी नौजवान सभा जिला कमेटी द्वारा प्रदेश में ध्वस्त कानून व्यवस्था के दुरुस्त करने,शहर में चर्चित मनोज शुक्ला हत्याकांड की उच्चस्तरीय जांच कराने,पीड़ितों को 50 लाख मुवाबजा देने,पीड़ित परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने,दोषियों को कड़ी सजा देने और पीड़ित परिवार को सुरक्षा देने और मृतक मनोज शुक्ला की लाश को कानून की धज्जियां उड़ाते हुये बिना की जानकारी के समय से पहले जलाने वाले दोषी पुलिसकर्मियों जे खिकाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग को लेकर जनौस जिलाध्यक्ष कामरेड धीरज द्विवेदी के नेतृत्व में 1 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल जिकाधिकारी कार्यलय में उपस्थिति अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को एक राष्ट्रपति महोदय को 5 सूत्रीय सम्बोधित और 6 सूत्रीय मांग पत्र जिकाधिकारी को सम्बोधित दिया गया।
जनौस प्रदेश महासचिव कामरेड सत्यभान सिंह जनवादी ने कहा कि आज पूरे प्रदेश में अपराध में बड़े पैमाने में बृद्धि हो रही है,हर तरफ हत्या बलात्कार की घटनाएं बढ़ रही है मासूम बच्चियों के साथ आये दिन यौन उत्पीड़न हो रहा है और सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है।
फैजाबाद शहर में एक युवा की बेरहमी से अपहरण और उसके बाद हत्या कर दी जाती है ।प्रशासन की उदाशीनता के कारण अपराधियों का मनोबल ऊंचा है।प्रदेश सरकार को तत्काल अपराध पर रोक लगा कर जनता के बीच मे व्याप्त भय को खत्म करें। प्रतिनिधि मंडल में कामरेड सुनील सिंह,शिवधर द्विवेदी,कामरेड सीताराम वर्मा एडवोकेट, कामरेड रेशमबानो, कामरेड रामजी तिवारी,इनौस के राष्ट्रीय नेता कामरेड अतीक अहमद,कामरेड इकबाल खन्ना,कामरेड अखण्ड प्रताप यादव,कामरेड फारुख इशहाक,आनंद सिंह आदि लोग मौजूद रहे।

Facebook Comments
इसे भी पढ़े  अव्यवस्थाओं के कारण बेसहारा पशुओं की हो रही मौत: अवधेश प्रसाद