मामूमों के यौन उत्पीड़न व हत्या के खिलाफ निकाला मार्च

अलीगढ़ की मासूम के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी दिये जाने की मांग

अयोध्या। भारत की जनवादी नौजवान सभा व ई रिक्शा यूनियन द्वारा अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम टिवंकल की हत्या व प्रदेश में मासूमो के यौन उत्पीड़न व हत्या के खिलाफ आज चैक में मार्च निकाल कर श्रधांजलि अर्पित किया गया। मार्च का नेतृत्व जनौस जिला अध्यक्ष व पूजा शर्मा कर रही थी। मार्च के बाद मंगल पांडे चैक पर श्रधांजलि सभा वरिष्ठ साथी नंद कॉन्वेंट के प्रबंधक राजेश नंद की अध्यक्षता में हुई।
सभा को सम्बोधित करते हुए डाक्टर प्रदीप सिंह ने कहा कि अलीगढ़ की मासूम के साथ हैवानियत करने वाले आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिये।ऐसे दरिंदे समाज के लिए घातक है आज पूरा देश शर्मशार हो गया है।
जनौस प्रदेश महासचिव कामरेड सत्यभान सिंह जनवादी ने कहा कि इस समय पूरे प्रदेश में मासूम बच्चियों के साथ यह घटनाये घट रही है रोज अखवारों के माध्यम से हत्या बलात्कार की घटनाएं पढ़ने को मिल रही है लेकिन प्रदेश की योगी सरकार शांत बैठी है,ऐसे दरिंदों के लिए कुछ ठोस सजा को सरकार बनाये और आरोपियों को सजा दे कि नजीर बन जाये।सरकार को महिला सुरक्षा पर विशेष ध्यान देना चाहिए।लेकिन सरकार कानून व्यबस्था के हिसाब से फेल हो चुकी है।संगठन सरकार से मांग करता है कि अलीगढ़ की मासूम के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दे कर अपराधियों को अपराध करने से रोके।
जनौस जिला कोषाध्यक्ष कामरेड पूजा शर्मा ने कहा कि हम महिलाओं को भी ऐसे लोगो के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की जरूरत है हमे आत्म निर्भर बनने की जरूरत है आरोपियों को सरकार कोर्ट से अपील करे कि सरकार उन्हें फांसी दे।महिला हिंसा को रोकने में केंद्र व प्रदेश सरकार नाकाम रही है।
जनौस जिलाप्रभारी कामरेड विश्वजीत सिंह राजू ने कहा कि सरकार को महिला हिंसा के खिलाफ ठोस कानून बनाना चाहिए जिससे अपराधी अपराध करने से डरे।
मार्च में कामरेड कोमल,जनवादी ई रिक्शा यूनियन के संयोजक कामरेड इकवाल खन्ना,दुर्गा प्रसाद,विकास,रामजी,पल्लन श्रीवास्तव,रामजी तिवारी,राजेश नन्द,लतीफ,गीता देवी,सूरज,रेशमबानो, अजमत अली आदि साथी उपस्थित रहे।

Facebook Comments
इसे भी पढ़े  ध्वस्त कानून व्यवस्था को लेकर जनौस ने सौंपा ज्ञापन